Categories
Allergy Hindi

बदलते मौसम की एलर्जिक राइनाइटिस या हे फीवर का होम्योपैथिक उपचार क्या है ?

एलर्जिक राईनिटिस या हे फीवर एक साधारण बीमारी है, जिस में छींक का आना, आँखों से पानी का आना और नाक बहना जैसे लक्षण दिखाई देते है। एलर्जिक राईनिटिस का होम्योपैथिक उपचार इसे स्थाई रूप से ठीक करने में सक्षम माना जाता है। इस से पहले कि हम एलर्जिक राईनिटिस के होम्योपैथिक उपचार की बात करें, तो इससे पहले ये जान लेते है की होम्योपैथिक में इसका किस तरीके से इलाज किया जाता है ;

क्या है हे फीवर या एलर्जिक राइनाइटिस ?

  • एलर्जिक राईनिटिस या हे फीवर एक एलर्जिक बीमारी है जिस में नाक के अंदर की श्लेष्मा झिल्ली में सूजन आ जाती है। और यह सूजन तब होती है जब कोई एलर्जी करने वाली चीज़ सम्पर्क में आती है। ये चीज़ें धुआँ, मिट्टी के कण या फूलों के कण या कोई तेज़ गंध के सम्पर्क में आने की वजह से होता है। 
  • वहीं यह समस्या पतझड़ और वसंत ऋतु में अधिक होती है।
  • हे फीवर की समस्या एक हानिरहित बाहरी या इनडोर पदार्थ के लिए एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण होता है, जिसे शरीर गलती से कुछ हानिकारक (एलर्जेन) समझ लेता है।

हे फीवर या एलर्जिक राइनाइटिस के कारण क्या है ?

  • जेनेटिक कारण इसमें सबसे पहले शामिल है। 
  • अन्य एलर्जी या अस्थमा के कारण भी इस तरह की समस्या हो सकती है। 
  • दूसरे हाथ में सिगरेट धुए के कारण भी इस तरह की समस्या हो सकती है।

हे फीवर या एलर्जिक राइनाइटिस के दौरान लक्षण किस तरह के नज़र आते है ?

  • नाक, मुंह, आंख या गले में खुजली की समस्या। 
  • बहती नाक या नाक के बाद जल की निकासी का होना। 
  • रुकावट या जमाव के कारण भरी हुई नाक। 
  • तेज़ सुगंध और धुंआ, जैसे परफ्यूम या हेयर स्प्रे का आँखों पर गलत प्रभाव पड़ना। 
  • सूजी हुई पलकें। 
  • खांसीलाल और पानी वाली आँखें। 
  • सिगरेट का धुंआ। 
  • छींक का आना। 
  • सफाई उत्पाद, पूल क्लोरीन, वाहन उत्सर्जन और अन्य वायु प्रदूषक इसके लक्षणों में शामिल है। 

हे फीवर की समस्या होने पर कब करें डॉक्टर का चयन ?

  • आपके लक्षण अगर बहुत ज्यादा बढ़ जाए और एक सप्ताह से अधिक समय तक रहें।
  • आप ओवर-द-काउंटर एलर्जी दवाओं से ठीक नहीं हो रहे है, तब डॉक्टर का चयन करें।
  • आपकी एक और स्थिति है, जैसे अस्थमा, जोकि हे फीवर के लक्षणों को और बिगाड़ता है।
  • आपके संकेत और लक्षण गंभीर है।
  • आपकी एलर्जी की दवाएं अप्रिय दुष्प्रभाव पैदा कर रही है।
  • आप यह जानना चाहते है कि एलर्जी इंजेक्शन या इम्यूनोथेरेपी आपके लिए एक अच्छा विकल्प है या नहीं।

हे फीवर या एलर्जिक राइनाइटिस की कौन-से होम्योपैथिक उपचार है सहायक ?

  • होम्योपैथिक दवाएं एलर्जिक राईनाइटिस के लिए बहुत ही उपयुक्त मानी जाती है। इस की वजह यह है कि होम्योपैथिक दवाएं केवल लक्षणों को दबाने का प्रयास नहीं करती, बल्कि ये दवाएं शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमताओं को भी बढ़ाती है। 
  • जैसे  कि सब एलर्जी की बीमारियां शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमज़ोरी की वजह से ही होती है। किसी एलर्जी करने वाली चीज़ के सम्पर्क में आते ही यह अत्यधिक मात्रा में प्रतिक्रिया करती है और इस वजह से सभी लक्षण महसूस होते है।
  • होम्योपैथिक दवाएं इस अत्यधिक प्रतिक्रिया को ठीक कर देती है और लक्षण भी धीरे-धीरे हर प्रकार से ठीक हो जाते है। उन्हीं चीज़ों से जिन से एलर्जी होती थी अब शरीर उन चीज़ें के विरूद्ध किसी भी प्रकार से कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखाता।
  • अगर आप हे फीवर समस्या का खात्मा करना चाहते है, तो इसके लिए आपको मुंबई में होम्योपैथिक क्लिनिक का चयन करना चाहिए। और अपने उपचार को होम्योपैथिक तरीके से करवाना चाहिए।

हे फीवर या एलर्जिक राइनाइटिस समस्या के लिए कौन-सी होम्योपैथिक दवा है बेहतरीन ?

  • एलर्जिक राइनाइटिस से बचाव के लिए कुछ होमियोपैथिक दवाइयां है, जिसका सेवन करके आप इस तरह की समस्या से खुद का बचाव आसानी से कर सकते है, तो बात करें होम्योपैथिक दवाई की तो इसमें आपको – एलीयम सीपा, जोकि आँखों में पानी के साथ एलर्जिक राईनाइटिस के लिए सर्वोत्तम होम्योपैथिक दवा मानी जाती है। को डॉक्टरों के द्वता दिया जाता है। 
  • आर्सेनिक ऐल्बम, बढ़ी हुई प्यास के साथ एलर्जिक राईनाइटिस के लिए सर्वोत्तम होम्योपैथिक दवा के रूप में मानी जाती है। 
  • नेट्रम म्यूर, छींकों के साथ एलर्जिक राईनाइटिस के लिए सर्वोत्तम होम्योपैथिक दवा है। 
  • मर्क सॉल, गर्मी और ठंड के प्रति संवेदनशीलता के साथ एलर्जिक राईनाइटिस के लिए सर्वोत्तम होम्योपैथिक दवा के रूप में लोगों के द्वारा प्रयोग में लाई जाती है 
  • अरुण्डो, खुजली के साथ एलर्जिक राईनाइटिस के लिए सर्वोत्तम होम्योपैथिक दवा मानी जाती है।

उपरोक्त में से किसी भी तरह की दवाई का सेवन करने से पहले कृपया इस दवाई को किस तरह से लेना चाहिए, इसके बारे में जानने के लिए आपको मुंबई में होम्योपैथिक डॉक्टर का चयन करना चाहिए।

सुझाव :

हे फीवर की समस्या को हल्के में लेने की भूल कृपया न करें वरना ये हल्की सी बीमारी आगे चल के आपके लिए काफी बड़ी समस्या खड़ी कर सकती है, वहीं इस तरह की समस्या से बचाव के लिए आपको डॉ. सोनल होम्योपैथिक क्लिनिक का चयन करना चाहिए। 

हे फीवर या एलर्जिक राइनाइटिस के दौरान क्या करें और क्या न करें ?

क्या करें :

  • पराग या फफूंदी को अपने घर में आने से रोकने के लिए रात में खिड़कियां बंद रखें।
  • यात्रा के दौरान कार के शीशे बंद रखें।
  • अपने डॉक्टर के द्वारा बताई गई निर्धारित दवाइयां लें। 
  • नियमित रूप से वैक्यूम करें और नरम कपड़े से झाड़ें।
  • जितना भी संभव हो घर के अंदर ही रहें। 

क्या न करें :

  • ज्यादा समय बाहर न बिताएं।
  • धुंए से दुरी बनाकर रखें।
  • कपड़ों को बाहर ना सुखाएं क्योंकि वे परागकणों को पकड़ सकते है।
  • यदि आपको हे फीवर का संदेह है तो स्वयं दवा लें। 
  • अत्यधिक शराब पीने से बचें।

निष्कर्ष :

हे फीवर की समस्या एक तरह का वायरस है और इससे बचाव के लिए आपको जितनी जल्दी हो सकें इसके लक्षणों के बारे में जानकारी हासिल करना चाहिए और जल्द से जल्द डॉक्टर के सम्पर्क में आना चाहिए। और किसी भी तरह के उपाय या दवाई का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

Categories
Dandruff

Want to Avoid hair fall due to Dandruff? We Have a Solution For You

Dandruff is scary for many of us. It causes flaky skin, dropping these skin flakes on your shoulders. We use the best hair care products to ensure a fall in dandruff level, but it still remains there. 

We try many other ways, like applying eggshells over the forehead to get rid of dandruff. It still ends up on our heads. But there has to be a solution to this looming threat to our hair, right?

Many times it is not dandruff that causes hair fall. The itching caused by it makes us scratch our heads, which causes hair loss, leading to consultation with the best clinics for Hair Transplant in Ludhiana

Hair scratching also causes injuries in hair follicles, resulting in hair fall. 

Dandruff is another contributor to androgenic alopecia, causing male and female pattern baldness. Hence, You should take steps to eliminate dandruff.

Ways to Prevent Dandruff-Related Hair Loss

Eliminating itchiness is the aim to prevent dandruff-related hair loss. You will feel less urge to scratch your head. It will also reduce damage to your hair follicles.

  1. Get a Diagnosis: hair washing methods, hair care routine, or any unrecognized condition are the deciding factors for the dandruff level. After the diagnosis, you can opt for a suitable treatment for your hair.
  2. Using Medicated Shampoo: A shampoo with ingredients such as pyrinthione zinc, salicylic acid, ketoconazole, and selenium sulfide will be good to treat dandruff. Use these shampoos for a few weeks in case of mild dandruff. Selenium sulfide can react on light-colored hair, leaving them discolored.
  3. Keep your hair moisturized: You should apply oils or creams suitable for your hair to moisturize them after applying shampoo. Shampoos leave hair dry, which won’t be good. Coconut oil has the best antifungal properties, making it the best choice for moisturizing hair. Use suitable oil for your hair based on your condition.
  4. Stay away from irritating hair products: Products like hair dye may contain ingredients unsuitable for your hair. Irritation in hair can result in contact dermatitis. You should also avoid products like hair fragrances, bleach, formaldehyde, and detergent, as they can have preservatives causing reactions to your skin.
  5. Stress Management: Your immune system gets weakened due to stress. That makes your scalp weak and more sensitive to malassezia fungus, which occurs naturally. Try yoga and meditation to handle stress.
  6. Spend some time under the sun: A little sunlight should do good for your hair. But wear sunscreen even when you step out for this purpose.

Conclusion

Dandruff is not the direct reason for hair fall. But it can cause severe conditions on the forehead, making them the causes of your hair loss. Using suitable shampoos, oils, and medications can bring some respite from them. But we need to follow certain things to ensure the best results against dandruff.

Many times our hair gets damaged due to dandruff, leading to hair fall. If you have a severe case of hair fall, you can get the best transplant depending on the Hair Transplant Cost . It will boost your confidence and bring the best out of you.

Categories
Respiratory Disorder

What are Respiratory diseases? Causes and treatment options

Nowadays, the air is polluted by mills, buildings, vehicles, etc. Traveling and breathing polluted air creates a risk of many diseases such as lung disease, chest pain, cardiac disease, shortening of breathing, cancer, infection, inflammation, etc. 

Respiratory disease

Many illnesses affect your lung function, creating more illnesses such as asthma, lung cancer, and other disorders. The disease also affects your respiratory system. Some respiratory disease symptoms include coughing blood, chest pain, breathing problems, etc. Respiratory disease occurs when we breathe polluted air.

The respiration system includes the nose, ear, windpipe, bronchi, and lung organs. Vaporific taking a breath and exhaling carbon dioxide helps to harm air out of the body. Respiratory systems help supply the required oxygen to the body’s cells. It helps to remove all infectious chemicals and body waste. 

When a person suffers from shortness of breath and continuous cough, this is a symptom of respiratory disease. If you do not notice, these symptoms can worsen and you may suffer major illnesses. 

Cause of Respiratory Disease 

Environmental factor

When air is polluted, tobacco, smoking, industrial chemicals, and other factors increase lung disease risk.

Allergies 

If you travel in dust, you suffer many allergies and infections, increasing the risk of asthma.

Infection

The main causes of infection in respiratory systems, like viruses, bacteria, and fungi, create a disease such as bronchitis and influenza. 

Weak immune system

If you suffer from lung disease, this condition affects your immune system. Lung Illness involves an immune system by fault attack to lung tissue. 

Life style

If you are addicted to smoking, you increase the risk of lung cancer.

Genetics

respiratory disease is having more chances through genetics. 

Homeopathy for respiratory disease treatment

Homeopathy medicine is a natural medication treatment. Homeopathic Doctor in Mumbai provide treatment that has no side effects on your body. This medicine gives energy to fight the disease. Treatment is the safest and most effective treatment. 

  • Homeopathy uses herbal medication. They do not use any drugs or supplements.
  • In homeopathy, they find the root causes of disease after giving treatment to cure a disease. 
  • Homeopathy medicine effectively works on disease. Reduce the symptoms. 
  • Babies, pregnant women, and people of all ages take homeopathy medicine. This treatment is the safest medicine for everyone. Taking medication does not have any side effects.
  • Taking homeopathy treatment helps reduce the symptoms and effectively works in illnesses to improve quality of life.
  • Homeopathy helps to stop the illness and provides the best treatment through therapies. 

Homeopathy treatment helps to reduce the risk of other illnesses through homeopathy remedies. If you have asthma, then homeopathic remedies help to reduce the illness. Because homeopathic doctors find the causes of the root and treat them accordingly, it helps to relieve the pain. Homeopathy provides various therapies to cure illnesses. 

Taking homeopathy treatment helps cure illnesses faster and get a better quality of life. That treatment has no side effects on your body. If you want homeopathy treatment for respiratory disease, visit the Homeopathic Clinic in Mumbai